HINDI

लखीमपुर घटना में आठ लोगों की मौत, मृतक के परिवार को 45 लाख का मुआवजा

लखीमपुर:  रविवार को लखीमपुर में किसानों का विरोध जारी था, विरोध के बीच केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर किसानों को कार से कुचलने का आरोप लगाया गया है, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर कार से किसानों को कुचलने का आरोप लगा है, जिसमें आठ लोगों की मौत की पुष्टि हुई है।  जिसमें चार किसान और तीन भाजपा कार्यकर्ता थे।  पुलिस प्रशासन द्वारा आशीष मिश्रा के खिलाफ धारा 147,148,149, 302,130B, 304A के तहत मामला दर्ज किया गया है।  वहीं इस घटना के बाद लखीमपुर में हिंसक झड़प को  देखते हुए प्रशासन ने धारा 144 लगा दी।

पंजाब उड्डयन विभाग ने यूपी के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को लखीमपुर जाने के लिए हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति मांगी थी।  जिसके जवाब में यूपी सरकार ने पत्र लिखकर कहा कि लखीमपुर में धारा 144 लागू होने के कारण पंजाब के सीएम और डिप्टी सीएम को यात्रा की अनुमति देना संभव नहीं है।

विपक्षी दलों ने की इस्तीफे की मांग

समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव और किसान संगठन के नेता राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग की।  वहीं अखिलेश यादव लखीमपुर घटना स्थल पर जाने को तैयार थे। लेकिन जब प्रशासन ने उन्हें रोका तो वह लखनऊ स्थित अपने आवास के बाहर धरने पर बैठ गए।  दूसरी ओर प्रियंका गांधी भी लखीमपुर के लिए रवाना हुईं लेकिन उन्हें भी सीतापुर में प्रशासन ने हिरासत में ले लिया।  प्रियंका गांधी की हिरासत के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘प्रियंका, मुझे पता है कि आप पीछे नहीं हटेंगी, वे आपकी हिम्मत से डरते है।  न्याय की इस अहिंसक लड़ाई में हम देश के अन्नदाता को जीत दिलाएंगे।

महासचिव हुए नजरबंद

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने सोमवार सुबह ट्विटर के जरिए बताया कि बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एससी मिश्रा को रविवार रात लखनऊ स्थित उनके आवास पर नजरबंद कर दिया गया है।  मायावती ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए लिखा कि एससी मिश्रा पूरे घटना का विवरण जानने के लिए लखीमपुर नहीं जा सके, इसलिए उन्हें नजरबंद कर दिया गया है।

किसानों की मांग

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने मांग की है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को केंद्रीय मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया जाए और सरकार पीड़ित परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी दे।

मुआवजा देने का आदेश

एडीजी (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि सरकार मृतक किसानों के परिवारों को 45 लाख रुपये और मुआवजे के रूप में सरकारी नौकरी के साथ-साथ घायलों को 10 लाख रुपये देगी।

Tags
Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker